जीवन में हर कोई कभी ना कभी बीमार पड़ता ही है। कुछ लोग साधारण रोग से परेशान होते हैं तो कुछ बहुत ही भयानक रोग से। हालांकि रोग कैसा भी हो, होता हानिकारक ही है। कई बार गंभीर रोग हो जानें पर काफी महँगा इलाज कराने के बाद भी कोई फायदा नहीं मिलता है। जबकि धर्म में उन रोगों के इलाज के बारे में बताया गया है। आज हम आपको कुछ ऐसे मन्त्रों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें दवा के साथ-साथ जपा जाए तो दुगुनी गति दे लाभ मिलता है।

ये रोग होने पर जपें ये मंत्र:

*- कैंसर:

कैंसर के बहुत ही घातक बिमारी है। कई बार इसका इलाज हो पाता है, जबकि कई बार लोगों को इस रोग की वजह से अपनी जान भी गंवानी पड़ती है। लेकिन अगर समय रहते ही ॐ नम: शिवाय शंभवे कर्केशाय नमो नम: का जाप करते हुए शिवलिंग का शहद से अभिषेक किया जाए तो सब ठीक हो जाता है।

*- मस्तिष्क रोग:

मस्तिष्क रोग भी खतरनाक होता है। ऐसे में व्यक्ति अपना मानसिक संतुलन खो बैठता है और अजीब-अजीब हरकतें करने लगता है। लेकिन अगर पीड़ित व्यक्ति ॐ उमा देवीभ्यां नम: मंत्र का जाप करते हुए माँ पार्वती को लाल रंग के फूल अर्पित करे तो समस्या का समाधान जल्द ही निकल जाता है।

*- नेत्र रोग:

यह रोग हो जानें पर व्यक्ति को दृष्टि सम्बन्धी समस्या का सामना करना पड़ता है। मोतियाबिंद, रंतौधि जैसी समस्या नेत्र रोग के अंतर्गत आते हैं। नेत्र रोग से परेशान व्यक्ति अगर ॐ शंखिनीभ्यां नम: मंत्र का जाप हर रोज 21 बार करे तो जल्द ही लाभ मिलना शुरू हो जाता है।

*- दिल का रोग:

आज के समय में ज्यादातर व्यक्ति दिल के रोग से पीड़ित हैं। यह उम्र बढ़ने के साथ-साथ ज्यादा परेशान करने लगता है। शिवलिंग का दूध से अभिषेक करते हुए अगर ॐ नम: शिवाय संभवे व्योमेशाय नम: मंत्र का जाप किया जाए तो जल्दी ही समस्या से मुक्ति मिल जाती है।

*- कान के रोग:

अगर आप कान की किसी समस्या से परेशान हैं तो हर रोज ॐ व्हां द्वार वासिनीभ्यां नम: मंत्र का 51 बार जाप करें। जल्दी ही आपको कान के रोग से छुटकारा मिलेगा।