भगवान शंकर इस पूरी श्रृष्टि के पालनहार हैं। वह अपने भक्तों की हर पुकार सुनते हैं और उसे तुरंत पूरा करते हैं। उन्हें अगर कोई सच्ची श्रद्धा के साथ एक लोटा जल भी चढ़ा दे तो वह प्रसन्न हो जाते हैं। सच्चे मन से केवल उनका ध्यान कर लेने भर से ही इंसान के सभी कष्टों का निवारण हो जाता है। उन्हें भोलेनाथ भी कहा जाता है। लेकिन जब क्रोधित होते हैं तो महाकाल का रूप धारण कर लेते हैं।

हर चीज का होता है अपना महत्व:

भगवन शंकर को दूध, शहद, जल, भांग, चन्दन आदि चीजें बहुत ही पसंद हैं। भगवाना भोलेनाथ को अगर इन चीजों को सही से अर्पित किया जाए तो जीवन के हर कष्ट से छुटकारा मिल जाता है। हर चीज का अपना अलग महत्व होता है। आज हम आपको बताएँगे कि कौन सी चीज कैसे भगवान भोलेनाथ को अर्पित करनी चाहिए और इसका क्या फायदा होता है।

इन चीजों को अर्पित करने से प्राप्त होता है ये फल:

*- दैनिक क्रिया से निवृत्त होने के बाद अगर भगवान शंकर को मन्त्रों का जाप करते हुए जल अर्पित किया जाए तो व्यक्ति का स्वाभाव शांत और सौम्य होता है।

*- भगवान शंकर को केसर अर्पित करने से व्यक्ति के अन्दर सौम्यता आती है।

*- शक्कर अर्पित करने से व्यक्ति के सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है। उसके जीवन की आर्थिक समस्याएँ दूर हो जाती हैं।

*- भगवान शंकर के शिवलिंग पर इत्र अर्पित करने से व्यक्ति के विचार पवित्र और शुद्ध हो जाते हैं। वह जीवन में गलत कामों से हमेशा के लिए दूर रहता है।

*- भगवान शंकर को दूध अर्पित करने से व्यक्ति हमेशा स्वस्थ्य और बिमारियों से दूर रहता है।

*- भगवान शंकर को दही अर्पित करने से व्यक्ति के स्वाभाव में गंभीरता आती है, साथ ही जीवन की सभी परेशानियों से भी मुक्ति मिल जाती है।

*- भगवान शंकर को घी अर्पित करने से व्यक्ति के अन्दर बल आता है।

*- भगवान शंकर को चन्दन अर्पित करने से इंसान का व्यक्तित्व आकर्षक होता है। साथ ही समाज में मान-सम्मान भी प्राप्त होता है।

*- ऐसा माना जाता है कि शिवलिंग पर शहद अर्पित करने से व्यक्ति की वाणी में मिठास आता है।

*- भगवान शंकर को भांग अर्पित करने से व्यक्ति के अन्दर की कमियों और बुराइयों का नाश हो जाता है।

*- भगवान शंकर को बेलपत्र बहुत ही पसंद है। इसे उनकी तीसरी आँख भी कहा जाता है। इसे अर्पित करने से व्यक्ति की सभी मनोकामना पूर्ण हो जाती है।