पुरानी कहावत है “बच्चे भगवान का रूप होते हैं”, सही बात है बच्चे भगवान ही रूप होते हैं, क्योंकी उनका ह्रदय अन्य सभी लोगों से कहीं ज्यादा साफ और पवित्र होता है। किसी भी दम्पति के लिए संतान का सुख ही सबसे बड़ा सुख माना जाता है। बच्चो का दिल बहुत ही मासूम और कोमल होता है उन्हें जैसे चाहो वैसे बहलाया जा सकता है। बच्चे बहुत शैतानी करते हैं।” अक्सर ऐसी बात घर और विद्यालय में माता-पिता, अभिभावक शिक्षकों एवं अन्य जनों से सुनने मिलती ही रहती है। बच्‍चों की सही परवरिश व अच्छी आदतों से ही उनके व्यक्तित्व का विकास संभव है। बच्चों को गलत बातों पर डांटने व धमकाने की बजाय उन्हें प्यार से समझाना बेहतर होता है। लेकिन कुछ लोग ऐसे होते है जो बच्चो की गलती पर उन्हें कड़ी सजा देना ठीक समझते है और अपने गुस्से में बच्चो को नुकसान पहुँचा देते है। ऐसी ही एक घटना आज हमारे सामने आई जब एक प्रेग्नेंट महिला में एक छोटे बच्चे की हरकत से परेशान होकर उसको ऐसी सजा देदी की उसे हॉस्पिटल ले जाना पडा. तो चलिए जानते है पूरी घटना के बारे में.

दरअसल, पूरी घटना कुछ इस तरह हुई एक प्रेग्नेंट महिला अपने पति के साथ एक रेस्टोरेंट में बैठी हुई थी। वही पर एक 4 साल का बच्चा घूम रहा था अब आपको तो पता ही होगा कि वो बच्चे ही क्या जो आराम से एक जगह बैठ जाये। ऐसे ही वह 4 साल का बच्चा भी बार बार रेस्टोरेंट के दरवाजे से बाहर जा रहा था तो कभी अंदर आ रहा था वह बार बार वहां के शीशे के दरवाजे को खोल के बंद कर रहा था।

बच्चे की इस हरकत से महिला बहुत परेशान हो गयी थी और उसे बहुत गुस्सा आने लगा था फर उसने उस बच्चे को सबक सिखाने की सोची तो वह बच्चा इस कदर घायल हो गया कि उसे अस्पताल लेकर जाना पड़ा। गुस्से में आकर उस महिला ने कुछ ऐसा कर दिया जो बहुत शर्मसार हरक़त है। वह महिला 7 महीने की प्रेग्नेंट थी लेकिन फिर भी उस महिला ने उस बच्चे को कठोर दिल से ऐसी भयानक सजा दे डाली।

उस बच्चे के दरवाजे से अंदर बाहर जाने से परेशान महिला ने उसे सबक सिखाने की सोची और जैसे ही बच्चा फिर से वहां से गुजरा उसने उस बच्चे के पैर के बीच अपनी टांग अड़ा कर उसे गिरा दिया। महिला उस बच्चे से इतनी परेशान हो चुकी थी कि उसे सबक सिखाने की सोच ली और उस बच्चे को इतनी जोर से गिराया कि उस बच्चे को बहुत गहरी चोट आई।

इस बच्चे के माता-पिता को लगा कि शैतानी करते समय वह बच्चा गिर गया और उसको चोट लगी लेकिन बाद में सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में जांच पड़ताल के बाद सामने आया कि उस महिला ने जानबूझकर बच्चे को गिराया था। घटना के तुरंत बाद बच्चे को अस्पताल में ले जाना पड़ा। यह वीडियो छगतं द्वारा यूट्यूब पर अपलोड की गई जिसके बाद से वह बहुत वायरल हो गयी है। उस वीडियो में बच्चा दरवाजे की ट्रांसपेरेंट पन्नी से खेलता नज़र आ रहा।

पूरी घटना का देखे वीडियो-


पूरी घटना को देखने के बाद उस महिला को आरोपी साबित होते ही पुलिस को फोन किया गया जिसके बाद उसे 10 दिन की जेल और 1000 रुपये जुर्माना का आदेश दिया गया। महिला 7 महीने की प्रेग्नेंट थी इसलिय उसे जेल तो नही हुई लेकिन उसे अछे से समझाया गया। इस घटना को बहुत शर्मनाक बताया गया।