देश चाहे कोई भी हो शादी का महत्व हर देश में अलग होता है। वही यदि भारत की बात करें तो भारत में शादी को लेकर लड़का हो या लड़की दोनों के दिलों में शादी के लिए उत्सुकता और कुछ रंग बिरंगे सपने होते हैं। हर कोई अपने लिए एक अच्छा जीवनसाथी पाने की कल्पना करता है। हमेशा एक लड़का हो या लड़की वह यही चाहता है कि उसके जीवन में जो भी आए उसे बेहद प्यार करें और उसका मान सम्मान का ध्यान रखें उसकी जरूरतों को पूरा करें और जीवन भर उसका साथ निभाएं। शादी को लेकर अजीबो गरीब किस्से तो रोज सुनने को ही मिलते ही है ऐसा ही है एक अजीबो गरीब किस्से अभी हाल ही में सुनने को आया जहां दूल्हा 24 घंटे की देरी से बरात लेकर पहुंचा तो दुल्हन ने शादी से इंकार कर दिया। जी हां यह पूरी घटना मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले की है जहां एक लड़की ने दूल्हे के साथ शादी करने से इंकार कर दिया और बारात बिना दुल्हन ही वापस लौट गई। आइए जानते हैं पूरा मामला-

ऐसी अचंभे में डाल देने वाली घटना मध्यप्रदेश के झाबुआ के पिटोल इलाके से सुनने में आई है। जहां जहां झाबुआ के चरोलीपाड़ा के रहने वाले नरेंद्र की शादी रेशमा से जो खेड़ी गांव की रहने वाली है से तय हुई थी। दूल्हे को बरात लेकर सोमवार के दिन पहुंचना था लेकिन सोमवार की बजाय बरात मंगलवार को लड़की वालों के यहां पहुंची। जिसके चलते लड़की वालों ने शादी करने से इंकार कर दिया। लड़की वालों की नाराजगी इस हद तक ठीक है उन्होंने लड़के वालों के समझाने पर भी शादी के लिए हां नहीं की।

लड़के वालों ने बताया कि उनके पिता के निधन की वजह से वह बारात सोमवार को नहीं लेकर आए थे लेकिन यह बात बताने के बाद भी लड़की वाले किसी कीमत पर भी शादी के लिए नहीं माने। लड़के वालों ने लड़की वालों को समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन लड़की वाले मानने के लिए तैयार नहीं थे उन्होंने कहा अब शादी करने का क्या फायदा जब हमारे सारे रिश्तेदार जा चुके हैं अब हमें कोई शादी नहीं करनी है। जबकि लड़के परिजनों ने लड़की के पिता को फोन करके पहले ही लड़की के पिता को लड़के के पिता के निधन के बारे में बता दिया था। सारी स्थिति को समझाने के बाद भी लड़की वालों ने शादी करने के लिए हामी नहीं भरी।

जब लड़के के परिजनों द्वारा समझाने पर भी लड़की के परिजन नहीं माने तब उन्होंने पुलिस का सहारा लिया और पुलिस को इत्तला कि और सारा मामला बताया पुलिस ने सारा मामला सुनने के बाद लड़की वालों को समझाने की बहुत कोशिश की कि वे शादी के लिए राजी हो जाए लेकिन लड़की वालों ने पुलिसवालों की बात भी नहीं मानी और शादी के लिए मना कर दिया। परिजनों के साथ साथ लड़की ने भी अपना बयान दिया और लड़की ने भी शादी से इंकार कर दिया उसने कहा मुझे ऐसी शादी नहीं करनी।

पुलिस के समझाने पर भी जब लड़की के परिजन शादी के लिए तैयार नहीं हुए तब दूल्हे को बिना दुल्हन ही अपने घर वापस लौटना पड़ा। दोनों के बीच जो कुछ भी लेनदेन हुआ था वह सब एक दूसरे को वापस लौटा दिया गया। हालांकि बाद में यह सामने आया कि लड़की नाबालिक थी इसलिए पुलिस ने ज्यादा जोर जबरदस्ती ना करते हुए मामले को वही ठंडा कर दिया और दूल्हे को खाली हाथ अपने घर वापस लौटना पड़ा।