नई दिल्ली: भारत में दहेज़ के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते नज़र आ रहे हैं. आए दिन अख़बारों की हेडलाइंस में हमे कोई ना कोई दहेज़ से जुड़ा मामले देखने को मिल ही जाता है. इतना ही नहीं बल्कि बहुत सारी लड़कियों को दहेज़ के लालच के चलते अपनी जान से हाथ धोना पड़ चूका है. इसके बावजूद भी लोगों का लालच काम होने का नाम नहीं ले रहा. ऐसे में हमारे देश की बेटियों ने इसके खिलाफ खड़े होने की हिम्मत की है. हाल ही में एक ऐसा ही मामला हमारे सामने आया है. जहाँ दहेज़ के लालच से तंग आ कर दुल्हन ने बरात को वापिस घर भेज दिया.

यह पूरा मामला पूर्वी दिल्ली के मधु विहार इलाके का है जहां मनीष मिश्रा नामक युवक की बेटी संगीता मिश्रा(काल्पनिक नाम) की रविवार रात को शादी थी. शादी की सभी तैयारियां हो चुकी थी लड़की वाले उत्साह से बारात का इंतजार कर रहे थे. तभी दूल्हा बारात लेकर जेपी होटल में लगे मंडप तक पहुंच गया. लड़की वालों ने बारात के स्वागत के लिए धूमधाम से सारी रस्में निभाई. इन सबके बाद जयमाला की रसम पूरी की गई. परंतु जयमाला के कुछ समय बाद ही दुल्हन ने शादी करने से मना कर दिया और बरात को वापस घर लौटना पड़ा. लड़की के परिजनों के अनुसार यह पूरा मामला दहेज का था इसलिए उन्होंने पुलिस को लड़के के खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया है और पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

शादी के मंडप में दुल्हन के जोड़े मे सजी संगीता ने बताया कि शादी की सभी रस्में ठीक-ठाक चल रही थी परंतु फेरों के वक्त ही दहेज के लालची दूल्हे और उसके परिवार वालों ने हमसे दहेज की डिमांड रख दी. संगीता ने बताया कि दूल्हे के परिवार ने उसे दहेज में 12 लाख से अधिक रुपयों की डिमांड की. जिस पर मनीष मिश्रा परेशान हो गए और दहेज देने में असमर्थता जताई. लड़की के बाप ने लड़के वालों के सामने काफी मिन्नतें की. परंतु वह 12 लाख रुपए लेने की जिद पर अड़े रहे.

जब दुल्हन को लड़के के परिजनों की इस करतूत के बारे में पता चला तो वह खुद मंडप में जा पहुंची. वहां जब उसने अपने पिता को दूल्हे के सामने मिन्नतें करते हुए देखा तो वह गुस्से से आग बबूला हो गई और सबके सामने उन दहेज लोभियों से शादी करने से इंकार कर दिया. इसके बाद मंडप का पूरा नजारा बदल गया और बरात को बिना शादी के ही वापस लौटना पड़ा. इसके बाद संगीता ने दूल्हे और उसके परिजनों के खिलाफ दहेज की मांग को लेकर शिकायत दे दी है. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया है परंतु दोनों पक्षों को सामने बिठाकर काउंसलिंग करवाने की बात कही है. पुलिस के अनुसार उन्होंने मामले की जांच शुरू कर दी है और जल्द ही दोनों पक्षों को सामने बिठा कर बात की जाएगी.

मनीष मिश्रा अपनी बेटी संगीता के लिए बहुत समय से योग्य वर की तलाश कर रहे थे. इसके लिए उनके किसी परिजन ने उन्हें jeevansathi dot com से जुड़ने की सलाह दी. ऐसी वेबसाइट पर मनीष ने अपनी पुत्री की शादी फरीदाबाद निवासी उमेश से तय की. जहां संगीता MBA थी वहीं दूल्हा BCA पास था और एक निजी कंपनी में कार्यरत हैं. शादी 29 अप्रैल को मधु विहार इलाके के जेपी होटल में होना तय हुई थी. लेकिन दुल्हन ने हिम्मत दिखाकर लालजी परिवार और दूल्हे को तुरंत हटा दिया. जिसके बाद से हर कोई लड़की की हिम्मत की दाद दे रहा है.