इंसान को जिन्दा रहने के लिए तीन मूलभूत चीजों की आवश्यकता पड़ती है, रोटी, कपड़ा और मकान। इन चीजों में से अगर मकान और कपड़ा ना भी रहे इंसान के पास तो वह किसी तरह से अपना जीवन यापन कर सकता है, लेकिन अगर खाना ना रहे तो उसके जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती है, क्योंकि खाने से ही इंसान को ताकत मिलती है।

किसी ना किसी तरह से भर ही लेता था अपना पेट:

आदि काल में भी जब मानव का विकास इस पृथ्वी पर हुआ था तब भी उसे जीने के लिए खाने की जरुरत पड़ती थी। हालांकि उस समय उसके पास आज की तरह खाने की चीजें नहीं थी, फिर भी वह किसी तरह से अपना पेट भर ही लेता था। समय के साथ-साथ विकास हुआ और आज इंसान के पास खाने के लिए तमाम तरह की चीजें हैं।

बिना खाने के कुछ दिन या महीने जी सकते हैं आप:

कुल मिलाजुलाकर कहा जाए तो इंसान बिना खाने के जिन्दा नहीं रह सकता है। अगर कोई खाने के बिना जिन्दा रह भी सकता है तो कुछ दिन या कुछ महीने, इससे ज्यादा नहीं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं, जो पिछले 60 सालों से बिना खाना खाए जिन्दा है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह महिला पिछले 60 सालों से बिना खाने के जिन्दा है।

पिछले 60 सालों से जिन्दा है पानी और चाय पर:

केवल यह महिला जिन्दा ही नहीं है, बल्कि स्वस्थ्य जिंदगी बिता रही है। यह अपने आप में एक बहुत ही हैरान कर देने वाला मामला है। इसको जानने के बाद सभी लोग हैरान हैं, कि आखिर वो महिला जिन्दा कैसे है। आपको बता दें वह महिला पिछले 60 सालों से केवल पानी और चाय पीकर ही जिन्दा है। 75 वर्षीय सरस्वती बाई का भी खाने का मन करता है, लेकिन वह मजबूर हैं।

आज हैं 5 स्वस्थ्य बच्चों की माँ:

जब सरस्वती बाई को पहला बच्चा हुआ उसके बाद वह गंभीर रूप से बीमार हो गयी और टाईफाइड की वजह से उनकी आंटे सिकुड़ गयी। जब वह कुछ भी खाती तो उन्हें उल्टी हो जाती। हालांकि समय के साथ उनका रोग भी ठीक हो गया, लेकिन इस समस्या ने उनका साथ नहीं छोड़ा। उनका इलाज कई जगहों पर करवाया गया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। आख़िरकार उन्होंने ऐसे ही जीने की आदत डाल ली। आज वह सुबह-शाम चाय और पानी पीकर ही जिन्दा रहती हैं। ऐसी हालत होने के बाद भी वह 5 बच्चों की माँ हैं।